28.8.16

Akhilesh government cabinet minister status given to Jaya Prada

अखि‍लेश ने दूर की अमर अंकल की नाराजगी, जयाप्रदा को दि‍या कैबि‍नेट मंत्री का दर्जा


अखि‍लेश ने दूर की अमर अंकल की नाराजगी, जयाप्रदा को दि‍या कैबि‍नेट मंत्री का दर्जा

लखनऊ.अपने आपको समाजवादी न कह कर मुलायमवादी बताने वाले अमर सि‍ंह की नाराजगी को अखि‍लेश यादव ने दूर कर दि‍या है। एक चैनल को दि‍ए इंटरव्‍यू में सीएम से मुलाकात के लिए समय न दि‍ए जाने और जयाप्रदा को तरजीह न दि‍ए जाने की बात अमर सि‍ंह ने की थी। माना जा रहा है कि‍ उसी नाराजगी को ध्‍यान में रखते हुए अखि‍लेश यादव ने जयाप्रदा को यूपी फि‍ल्‍म वि‍कास परि‍षद का उपाध्‍यक्ष मनोनीत करते हुए कैबि‍नेट मंत्री का दर्जा दे दि‍या है। सूत्रों का कहना है कि‍ सीएम के इस कदम से आजम खान खफा हो गए हैं। अब जयप्रदा को मिलेगी कैबिनेट मंत्री की सुविधा...

-अमर सि‍ंह की नाराजगी के बाद रविवार को अखि‍लेश यादव ने जयाप्रदा को यूपी फि‍ल्‍म वि‍कास परि‍षद का वरि‍ष्‍ठ उपाध्‍यक्ष मनोनीत कि‍या है।
-जबकि‍ फि‍ल्‍म वि‍कास परि‍षद के अध्‍यक्ष प्रख्‍यात गीतकार गोपालदास नीरज हैं।
-उपाध्‍यक्ष बनाए जाने के बाद जयाप्रदा को कैबि‍नेट मंत्री की सुवि‍धा मि‍लने लगेगी।
-अमर सि‍ंह के सपा में आने और राज्‍यसभा सदस्‍य बनने के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि‍ जयाप्रदा को सरकार कैबि‍नेट मंत्री बना सकती है।
-लेकि‍न इसमें हो रही देरी के चलते अमर सि‍ंह को अपनी नाराजगी चैनल के माध्‍यम से व्‍यक्‍त करनी पड़ी थी।
जयाप्रदा को कैबि‍नेट का दर्जा मि‍लने से आजम हैं खफा
-सूत्रों की मानें तो जयाप्रदा को कैबि‍नेट का दर्जा मि‍लने के बाद आजम खान खफा हो गए हैं।
-अमर सि‍ंह और आजम खान के बीच मतभेद 2009 के लोकसभा चुनाव के बाद से ही शुरू हो गए थे।
-जयाप्रदा को टि‍कट न मि‍लने से नाराज अमर सि‍ंह ने 2010 में पार्टी छोड़ दी थी।
-पार्टी से अलग होने के बाद राष्‍ट्रीय लोकमंच पार्टी बनाई। पार्टी चुनाव में उतरी, लेकि‍न एक भी सीट हासि‍ल न कर सकी।
-इसके बाद एक समय में सत्‍ता के केंद्र रहे अमर सि‍ंह ने खुद को हाशि‍ए पर जाते देख रालोद के साथ मि‍लकर चुनाव लड़ा।
-लेकि‍न जीत न हासि‍ल होने और लगातार हाशि‍ए पर रहने की वजह से फि‍र से समाजवादी हो गए।
अमर सिंह के साथ सपा से हुई थीं अलग
-जयाप्रदा अमर सिंह के साथ ही समाजवादी पार्टी से अलग हो गई थीं।
-माना जाता है कि अमर सिंह से नजदीकी के चलते ही आजम खान का रुख उनके प्रति सख्त रहा है।
-सपा सरकार के सत्ता में आने के बाद 2013 में जयाप्रदा की गाड़ी की लालबत्ती मुरादाबाद के आरटीओ सुरेंद्र कुमार ने उतार दी थी।
-इसके बाद जयाप्रदा 2014 में लोकसभा का चुनाव हार गईं और उनके राजनीतिक करियर पर ब्रेक लग गया।
अमर सिंह ने आजम को ठहराया था जिम्मेदार
-2015 में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में अमर सिंह ने राज्यपाल रामनाईक के लिए अभद्र टिप्पणी करने पर आजम खान पर कमेंट किया था।
-इसमें अमर सिंह ने अपने और जयाप्रदा के समाजवादी पार्टी से निष्कासन के लिए आजम खान को ही जिम्मेदार ठहराया था।

Share this

0 Comment to "Akhilesh government cabinet minister status given to Jaya Prada"

Post a Comment