1.8.16

कभी सड़कों पर भीख मांगने के लिए उठते थे जो हाथ, आज जीत रहे हैं मैडल

chandramma beggar to athlete

कभी सड़कों पर ये हाथ भीख मांगने के लिए आगे बढ़ते थे, आज यही हाथ मैडल को थामने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। बैंगलोर में रहने वाली 14 साल की चंद्रअम्मा आज एथलीट हैं, लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब चंद्रअम्मा और उसका भाई सड़कों पर भीख मांग कर गुज़ारा करते थे।

इसी दौरान पुलिस ने दोनों बच्चों को पकड़कर चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को सौंप दिया। कमेटी ने इन बच्चों के माता पिता से इन्हें ले जाने के लिए संपर्क किया, लेकिन इन्हें लेने कोई कभी नहीं आया।



बस यहीं से चंद्रअम्मा के कदमों ने उड़ान भरनी शुरु कर दी। आज चंद्रअम्मा बाल्य विद्या मंदिर स्कूल में 7 क्लास में पढ़ती है। पढ़ाई के साथ ही वह दौड़, खो-खो लॉन्ग जम्प और कब्बड़ी में कई मैडल जीत चुकी है। यही नहीं 2014 में हुए  GAIL के The Fastest Indian प्रतियोगिता की दौड़ में चंद्रअम्मा ने पहला स्थान हासिल किया था।

शायद ये किसी ने नही सोचा होगा की सड़कों पर भीख मांगने वाली ये लड़की आज सब कुछ पीछे छोड़कर एक नई उड़ान भर लेगी।

Share this

0 Comment to "कभी सड़कों पर भीख मांगने के लिए उठते थे जो हाथ, आज जीत रहे हैं मैडल"

Post a Comment