29.9.16

Pak Reaction on Indian Army Strike

इंडियन आर्मी के सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाए नवाज, बोले- यह हम पर हमला है, हमें कमजोर न समझें; पाक में ट्रेंड कर रहा है 


nawaz, international news in hindi, world hindi news

इस्लामाबाद. इंडियन आर्मी द्वारा एलओसी पार सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान बौखला गया है। भारत की सर्जिकल स्ट्राइक को अपने ऊपर हमला माना है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इंडियन आर्मी की कार्रवाई हम पर हमला है। हम शांति चाहते हैं तो इसलिए हमें कमजोर न समझें। पाक में #ChakDeIndia ट्रेंड कर रहा है। इंडियन आर्मी ने कहा- पाक को बता दिया की हमने किया सर्जिकल स्ट्राइक...

- आर्मी के अफसर ने कहा- ''मैंने अभी पाक के डीजीएमओ से बात की और उन्हें भी कल रात हुए सर्जिकल ऑपरेशन के बारे में बता दिया है।''
- ''भारत इस क्षेत्र में अमन चाहता है। लेकिन हम नहीं चाहते कि एलओसी पर खतरा पैदा हो और हमारे देश के लोगों की जान खतरे में पड़े।''
- ''पाक जनवरी 2004 के अपने वादे पर कायम रहे। हम उम्मीद करते हैं कि पाक आर्मी हमारे साथ कोऑपरेट करेगी और इस रीजन से आतंकवाद का खात्मा करने की दिशा में मदद करेगी।'' 
भारत ने कहां किया सर्जिकल स्ट्राइक?
- पाकिस्तान इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन्स ने कहा, भारत ने एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ भिम्बेर, हाटस्प्रिंग, केल और लिपा सेक्टर में हमला किया।
- शरीफ ने कहा- ''शरीफ ने भारतीय सेना द्वारा एलओसी पर बेवजह और क्रूर तरीके से दो पाक सैनिकों के मारे जाने की जोरदार निंदा की है।''
भारत में #ModiPunishesPak और #IndianArmy ट्रेंड में
- भारत में #ModiPunishesPak और #IndianArmy ट्रेंड कर रहा है। 
- बता दें कि उड़ी हमले के बाद मोदी ने दोषियों को सजा देने की बात की थी।
- मोदी ने तीन बड़े बयान दिए थे। पहला-आतंकियों के लिखे भाषण पढ़कर कश्मीर के गीत गाने वाले पाकिस्तान के हुक्मरानों से हमें बात नहीं करनी।
दूसरा- आतंकी कान खोलकर सुन लें, हमारा देश उड़ी हमले के शहीदों की कुर्बानी कभी नहीं भूलेगा।
तीसरा- हमसे हजार साल लड़ने की बात कहने वाले पाक के हुक्मरानों की चुनौती मैं स्वीकार करता हूं।
अपनी सरहद से बाहर हमारी सेना ने कब चलाए ऑपरेशन?
- 1971: पाकिस्तान से जंग के दौरान हमारी सेना बांग्लादेश में घुसी और उसे आजाद कराया।
- 1987 : लिट्टे को बेअसर करने के लिए भारत ने अपने शांति रक्षा बलों के 50 हजार जवानों को श्रीलंका के जाफना में उतारा। हमारी सेना के 1200 जवान शहीद हुए। अभियान 1990 तक चला।
- 1988: तख्तापलट की कोशिशें नाकाम करने के लिए मालदीव ने भारत से मदद मांगी। भारत ने सेना के 1400 कमांडो माले में उतारे। विद्रोहियों का बड़े पैमाने पर सफाया किया।
- 1995 : पूर्वोत्तर के उग्रवादियों के कैम्प नष्ट करने के लिए सेना ने म्यांमार में प्रवेश किया। यह ऑपरेशन गोल्डन बर्ड कहलाया। 40 उग्रवादियों को मार गिराया गया।



Share this

0 Comment to "Pak Reaction on Indian Army Strike"

Post a Comment

News (1298) Jobs (1238) PrivateJobs (327) Events (302) Result (128) Admit (104) Success_Story (65) BankJobs (57) Articles (32) Startups (17) Walk-INS (3)