11.11.16

Aloe vera farmer became a crorepati

नौकरी छोड़ शुरू की एलोवेरा की खेती, ऐसे बन गया करोड़पति

नौकरी छोड़ शुरू की एलोवेरा की खेती, ऐसे बन गया करोड़पति

अक्सर हम ये देखते हैं किसान वर्ग के लोगों को सरकारी नौकरी मिल जाए तो किसानी करना छोड़ अपना पूरा जीवन सिर्फ नौकरी करने में बिता देते हैं। ऐसे में यदि कोई सरकारी नौकरी छोड़ कर किसानी करने लगे तो वाकई चौकाने वाली बात होगी। हरीश धनदेव सरकारी नौकरी से संतुष्ट न होने पर इस्तीफा देकर अपना करियर कृषि क्षेत्र की ओर ले जाने का निर्णय लिया और अब वह करोड़पति किसान हैं। आइए जानते हैं कि आखिर कैसे उनके दिमाग में किसानी करने का ख्याल आया और जीवन का सफलतम फैसला लिया।

हरीश धनदेव एक बार सरकारी नौकरी के दौरान दिल्ली में 'कृषि एक्सपो' में पहुंचे, जहां उन्होंने देखा कि एलोवेरा की खेती करने से न सिर्फ आय में वृद्धि होगी बल्कि कृषि क्षेत्र में देश के विकास में भागीदारी भी होगी। इसके बाद उन्होंने सरकारी नौकरी से इस्तीफा दिया और एलोवेरा की खेती करने का निर्णय लिया। लगभग 120 एकड़ जमीन पर एलोवेरा समेत कई चीजों की खेती करना शुरू कर दिया। जैसलमेर से 45 किलोमीटर दूर धहिसर 'न्यूट्रीलो एग्रो' नाम से अपनी एक कंपनी खोली।

जहां बड़ी संख्या में एलोवेरा की खेती कर उसे बाबा रामदेव की पतंजलि कंपनी को बेचना शुरू किया। पतंजलि ने एलोवेरा के जूस तैयार करने के लिए अधिक मात्रा में एलोवेरा की जरूरत हो, जिसे हरीश ने अपनी खेती के जरिए पूर्ण उत्पादन निर्यात की।

कैसे बने करोड़पति?

एलोवेरा की पैदावार अधिकतर रेतीली क्षेत्रों में होती है। हरीश ने इसका फायदा उठाया और एलोवेरा की बड़े स्तर पर खेती की। इसकी मांग न सिर्फ राष्ट्रीय स्तर पर है बल्कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी है। हरीश द्वारा उगाए गए एलोवेरा की क्वालिटी बेहतरीन होने की वजह से पतंजलि ने भी मांग बढ़ा दी। इसका फायदा हरीश को इतना मिला कि वह कुछ ही महीनों में करोड़पति बन गए।

हरीश एलोवेरा के अलावा बाजरा, अनाज, मूंग आदि खाद्य पदार्थों की खेती किया। इन चीजों की मांग इतनी बढ़ गई कि न सिर्फ भारत में बल्कि ब्राजील, हांग-कांग और अमेरिका में भी निर्यात की जाने लगी।

80 हजार से 7 लाख पौधे लगाएं

शुरूआत में हरीश ने एलोवेरा के लगभग 80 हजार पौधारोपण करवाएं और धीरे-धीरे इसे बढ़ाकर लगभग 7 लाख पौधे लगा दिए। हरीश ने बताया कि पिछले 4 महीनों के भीतर हरिद्वार में लगे पतंजलि फैक्टरियों में 125 से 150 टन एलोवेरा का निर्यात किया।


Share this

0 Comment to "Aloe vera farmer became a crorepati"

Post a Comment

News (1289) Jobs (1238) PrivateJobs (322) Events (302) Result (128) Admit (104) Success_Story (65) BankJobs (57) Articles (32) Startups (17) Walk-INS (3)